सुकन्या समृद्धि योजना 2022 के नियमों में हुआ बदलाव, नये नियम जानना बेहद जरुरी.

Sukanya Samriddhi Yojana 2022: इस आर्टिकल में हम जानेंगे बेटियों के लिए चलाई गयी सरकारी योजना सुकन्या समृद्धि योजना 2022 में क्या बदलाव किया गए है? और नये नियम क्या है? सुकन्या समृधि योजना में क्या लाभ मिलता है? और ब्याज कितना मिलता है? Sukanya Samriddhi Yojana new rules and update, interest rate and more details in hindi.

Sukanya Samriddhi Yojana 2022

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 के नये नियम या नया अपडेट क्या है?

जिनके घर में है 10 साल तक की कोई छोटी बेटी तो इन बेटियों के उज्जवल भविष्य के लिए सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की गयी है। जो की भारत सरकार की बहुत ही शानदार योजना है तो कुछ महत्पूर्ण बदलाव इसी स्कीम में किए गए हैं जिसकी जानकारी आप लोगों को होना बहुत जरूरी है, तो कौन कौन से वो बदलाव है। इसके लिए आप इस आर्टिकल को एक बार पूरा ध्यान से पढ़े।

तो क्या सबसे पहला और महत्वपूर्ण बदलाव किया गया है, कि अब आपका अकाउंट डिफॉल्ट नहीं होगा तो पुराने नियम के अनुसार सुकन्या समृद्धि योजना को एक्टिव रखने के लिए आपको हर साल मिनिमम 250 रूपये जमा करवाने होते थे। यदि 250 रूपये जमा नहीं करवा पाते थे तो आपके अकाउंट पर जो पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में ब्याज मिलता था, वह इसमें मिलना शुरू हो जाता था। जो कि सुकन्या समृद्धि योजना के ब्याज से काफी कम होता था।

सुकन्या समृधि योजना में पहला बदलाव

लेकिन नए नियम के अनुसार अब ऐसा नहीं होगा। अब अगर आप मिनिमम एमाउंट 250 किसी साल जमा नहीं भी करवा पाते हैं। तब भी आपको रेगुलर सुकन्या समृद्धि योजना का निर्धारित ब्याज मिलता रहेगा। हालांकि प्रत्येक डिफॉल्ट ईयर के लिए आपको ₹50 प्रति वर्ष के हिसाब से पहले की तरह ही पेनल्टी के रूप में जमा करवानी होगी। तो आपको बता दें कि सुकन्या समृद्धि योजना में आप कम से कम 250 रूपये और अधिकतम डेढ़ लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं।

सुकन्या समृधि योजना में दूसरा बदलाव

पहले के नियम के अनुसार सुकन्या समृद्धि योजना के सेक्शन 80 C में मात्र दो ही बेटियों के लिए टैक्स छूट का क्लेम किया जा सकता था। चाहे जुडवा बेटी ही क्यों न हो, लेकिन अब नए नियम के अनुसार सेकंड बर्थ में अगर जुड़वा बेटियां पैदा हुई हैं तो अब तीन बेटियों के सुकन्या समृद्धि योजना एकाउंट पर टैक्स छूट का लाभ आप ले सकते हैं।

यानी आपने तीनों बेटियों के एकाउंट में जो भी पैसा डिपॉजिट किया है, उसके अनुसार आप टैक्स छूट को क्लेम कर सकते हैं। इनकम टैक्स के सेक्शन 80 C में आप डेढ़ लाख रुपये तक के निवेश पर एक साल में ये छूट ले सकते हैं।

सुकन्या समृधि योजना में तीसरा बदलाव

फिर तीसरा बदलाव इस अकाउंट में किया गया है, अकाउंट ओपरेशन से संबंधित। पुराने नियम के अनुसार अगर बेटी की उम्र 10 वर्ष की हो जाती है तो बेटी सुकन्या समृद्धि योजना एकाउंट को खुद आपरेट कर सकती थीं, लेकिन अब नए नियम में इसे बदल कर 18 वर्ष कर दिया गया है। यानि अब बेटी की उम्र 18 वर्ष पूरे होने पर ही वह खुद अपना एकाउंट ओपरेट कर सकती है। इसके लिए उसे अपने माता पिता के सिग्नेचर की भी आवश्यकता नहीं है।

सुकन्या समृधि योजना में चौथा बदलाव

ये चौथा बदलाव किया गया है। इसके प्री मैच्योर क्लोज से संबंधित इसमें कुछ एडिशनल प्रोविजन जोड़े गए हैं, जिसमें सुकन्या समृद्धि योजना को प्री मैच्योर क्लोज करवाया जा सकता है। इन चार कंडीशन में इस एकाउंट को समय से पहले बंद करवाया जा सकता है,जो निम्न प्रकार से है-

  • अगर एकाउंट होल्डर की मृत्यु हो जाती है, तो इस अकाउंट को प्री मैच्योर बन्द करवाया जा सकता है।
  • दूसरी कंडीशन ,है कि अगर बेटी के माता पिता की मृत्यु हो जाए, तब भी इस एकाउंट को समय से पहले बंद करवा सकते हैं।
  • तीसरी कंडीशन है कि अगर अकाउंट होल्डर एनआरआई हो जाए या कहें कि अप्रवासी भारतीय हो जाए तब भी इस अकाउंट को प्री मैच्योर क्लोज कर सकते हैं।
  • और चौथी कंडीशन यह है कि अगर बेटी को कोई गंभीर बीमारी हो गई है, जिसमें बहुत से पैसे उसके इलाज पर खर्च हो रहे हैं। तब भी आप इस अकाउंट को प्री मैच्योर क्लोज करवा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना से जुडी सामान्य जानकरी

अगर आप इस सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट को खुलवाना चाहते हैं तो बेटी के जन्म से लेकर 10 वर्ष तक की आयु के होने तक इस सेकंड को ओपन करवा सकते हैं। अभी सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट पर वर्तमान में 6-7% का ब्याज मिलता है जो कि पोस्ट ऑफिस की जितनी भी सेविंग अकाउंट हैं उनमें से सबसे ज्यादा इस एकाउंट पर आपको ये ब्याज मिल जाता है।

यह ब्याज दर हर तीन महीने में बदलती रहती है, लेकिन 2020 से लेकर अभी तक यानी 2022 तक इसके ब्याज दर में कोई भी बदलाव नहीं हुआ है। इस एकाउंट को आप किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर किसी बैंक में खुलवा सकते हैं। जैसे कि SBI बैंक में ICICI बैंक में HDFC बैंक इत्यादि में आप इस एकाउंट को ओपन करवा सकते हैं। इस एकाउंट में जमा किया गया पैसा मिलने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलने वाला पैसा पूर्ण रूप से टैक्स फ्री होता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में कौनसे डाक्यूमेंट्स आवश्यक है?

  • इस अकाउंट को ओपन करवाने के लिए आपको चाहिए सुकन्या समृद्धि योजना का फॉर्म।
  • दूसरा आपकी बच्ची का जो सर्टिफिकेट है, वो भी इसमें लगेगा।
  • पासपोर्ट साइज का फोटो और बेटी के जो माता पिता है, उनका आईडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ।

सुकन्या समृद्धि योजना में क्या लाभ मिलता है?

अभी हम यह भी जान लेते है की इसमें कितना आपको रिटर्न मिलेगा। अगर आप 1000 रुपये इसमें जमा करते हैं, तो तो योजना के अंतर्गत अगर 2022 में कोई व्यक्ति हजार रुपये महीने से अकाउंट को ओपन करता है, तो उसे 15 सालों तक यानी दो हज़ार 36 तक हर साल ₹12,000 इसमें डालने होंगे।

मौजूदा हिसाब से उसे हर साल 6-7% का ब्याज मिलता रहेगा। तो जब बच्ची 21 साल की होगी यानि उसे 5,10,373 रूपये मिलेंगे। तो गौर करने वाली बात ये है कि इन 15 सालों में बेटी के माता पिता ने इस अकाउंट में कुल ₹1,80,000 ही जमा किए। बाकी के पैसे ब्याज के मिले है।

और अगर आप इस अकाउंट में ₹12,500 हर महीने जमा करते हैं, 15 सालों तक तब आपको 21 वर्ष बाद मैच्योरिटी पर ₹63,79,635 मिलेंगे तो फिर बहुत अच्छी योजना है। अगर आपके यहां पर 10 वर्ष से कम उम्र की बेटी है तो अच्छा चक्रवृद्धि ब्याज मिल रहा है। इसमें डेढ़ लाख रुपये तक की हर साल टैक्स छूट का भी लाभ इसमें मिल पा रहा है, तो इससे अच्छा और क्या हो सकता है।

यह भी पढ़े:-

About Content:-

This information has not been written for the purpose of misleading anyone, in this, it has been told about the scheme, which is run by the Government of India itself. The purpose of any article on our website is not to give false information to anyone.
5/5 - (4 votes)