भारत जल्द बनेगा $20 लाख करोड़ की सुपर इकॉनमी, World Bank ने कही बड़ी बात.

अब वो दिन दूर नहीं जब भारत दुनिया को विकासशील देश वही विकसित देश की श्रेणी में दिखने लगेगा। हां, सही सुन रहे भारत अब बहुत जल्द Developed कंट्री बनने जा रहा है। तमाम संकटों को पार करते हुए भारत अपनी अर्थव्यवस्था को बड़ी मजबूती के साथ खड़ा करने में सफल रहा है। कई आफतें भी आईं और गई, लेकिन भारत अपनी रफ्तार से आगे बढ़ता चला जा रहा है।

भारत विकसित देश कैसे बन सकता है

भारत विकसित देश कब और कैसे बन सकता है?

भारत सरकार भी समय समय पर अपनी पीठ थपथपाती हुई नजर आती है, लेकिन अब सरकार की बात पर भी मुहर लगी है। चलिए अब रफ्तार से रिपोर्ट में हम आपको समझाते हैं कि किसने भारत की अर्थव्यवस्था पर अपना भरोसा कायम रखा और इससे आने वाले दिनों में कैसा परफॉर्मेंस रहने वाला है।

1585 की बनी हुई American Multi National Investment Management कंपनी मॉर्गन स्टैनली ने भारत को 2022 में एशिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था करार दिया है। स्टैनली ने रिपोर्ट में भारत की तारीफ की है। भारत को मॉर्गन ने विपरीत परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन करने वाला देश बताया है।

उनका मानना है कि भारत ना केवल महामारी के असर से बाहर निकल चुका है। साथ ही भूराजनैतिक संकटों, महंगाई दर और महंगे होते कच्चे तेल के बीच भी अपनी रफ्तार से चल रहा है। मॉर्गन स्टैनली के इकनॉमिस्ट ने बताया कि भारत इस फाइनेंशियल ईयर में 7% की दर से बढ़ेगा। एशिया की ग्रोथ में 28 फीसदी की हिस्सेदारी वाली दुनिया की ग्रोथ में भारत 22 फीसदी का योगदान देगा।

भारत को विकसित देश बनाने में सरकार का क्या मानना है?

अब आपको सरकार का पक्ष भी बता देते हैं। सरकार ने कई कार्यक्रम में बताया था कि 2022-23 में भारत की ग्रोथ की दर 7.5 फीसदी रहेगी। सरकार अगले वित्तवर्ष में भी यह रफ्तार बरकरार रखने की कोशिश करेगी। सरकार के इस दावे को आयोग और वर्ल्ड बैंक का भी साथ मिला है। यानी जो ग्रोथ का अनुमान सरकार ने पेश किया है, वही वर्ल्ड बैंक (World Bank) का भी अनुमान है।

हालांकि वैश्विक चिंताएं और चुनौतियों के बीच भारत सावधान भी है और जब जैसा तब तैसा की नीति पर चलता है। बता दें भारत अभी 130 करोड़ की आबादी वाला देश दुनिया भारत को एक बड़े मार्केट के रूप में देखती है। भारत के भी लोगों की आकांक्षाएं और ऐसे शब्द सब दिन प्रतिदिन बढ़ रहे हैं। ऐसे में 2047 तक भारत उच्च मध्य आय वाला देश बन सकता है, बशर्ते अगले 25 साल में औसत पीवी ग्रोथ सात से साढ़े सात फीसदी तक बनी रहे।

इस समय भारत दो हज़ार 700 अरब डॉलर के जीडीपी के साथ दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है, लेकिन अगर इकनॉमिक ग्रोथ सात से साढ़े 7% के बीच रहती है तो अगले 25 साल में देश की प्रति व्यक्ति आय 10,000 डॉलर प्रतिवर्ष को पार कर जाएगी। और तो और भारत 2047 तक 20 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था वाला देश बन जाएगा तो वो दिन दूर नहीं। जब भारत दुनिया भर में Super Power Economy बनकर उभरेगा।

यह भी पढ़े:-

4.5/5 - (2 votes)