गरीब और अमीर की सोच में क्या अंतर है? अमीर होना चाहते हो तो 4 आदतें आज ही सुधार लो.

आज के टाइम में हर कोई अमीर बनना चाहता है, लेकिन 4 ऐसी आदतें जो इंसान को सफल ये अमीर बनने से रोकती है. अगर आप इन 4 आदतों को छोड़ देंगे तो आप भी सफल हो सकते है. इस पोस्ट को पढने से पहले मै आपको एक बात बता दूँ की इस पोस्ट को आप तभी पढना जब आप सच में कुछ बड़ा करना चाहते हो और अपनी जिन्दगी में सफल होना चाहते है. चलिए जानते है, अमीर गरीब और अमीर की सोच में क्या अंतर है? अमीरों की आदते कैसे होती है? अमीर बनने के लिए क्या करना चाहिए ? और कौनसी 4 गलत आदतों को छोड़ आप अमीर बन सकते है?

 अमीर गरीब और अमीर की सोच में क्या अंतर है? अमीरों की आदते कैसे होती है?

अमीर बनने के लिए इन्सान को कौनसी 4 आदतों को सुधारना चाहिए?

मैंने देखा है, की मेरी पोस्ट को 2 तरह के लोग पढ़ते है, एक तो वो जो सच में कुछ बड़ा करना चाहते है, और दुसरे वो जो सिर्फ मनोरंजन चाहते है. तो मेरी आपसे यही विनती है, की अगर आप उन लोगों में से हो जो कुछ बड़ा करना चाहते है, तो आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़िए क्यूंकि इसमें इसमें आपको कुछ ऐसा सिखने को मिलेगा जो आपकी जिन्दगी को बदलकर रख देगा. तो चलिए उन आदतों के बारे में जो आपको सफल होने से रोक रही है.

ख़राब मानसिकता (Poor Mentality)

खराब मानसिकता हम इंसानों की सबसे गन्दी आदतों में से एक है, जो हमें कुछ बड़ा सोचने या कुछ बड़ा करने से रोकती है. ज्यादातर लोगों की यही मानसिकता होती है, की लोग मुझे सफल नही होने दे रहे, लोग मुझे उल्टा सीधा बोलते है, और ऐसे लोगों के सामने जब कुछ बड़ा करने की बात की जाए या पैसे कमाने की बात की जाए तो उन्हें ये बातें तो काफी अच्छी लगती है, लेकिन जब कुछ करने की बारी आती है, तो कहते है की ये सब तो बातें है सच में ऐसा कुछ नहीं होता.

ज्यादातर लोगों की सोच यही होती है, ये अमीर लोग हमें अमीर नहीं बनने दे रहे या ये कहेंगे की इन अमीरों के कारण हम जैसे लोग और गरीब बनते जा रहे है. ऐसी सोच वाले लोग कभी भी खुद को किसी बात का दोषी नहीं मानेगे वो कैसे ना कैसे करके दूसरों पर ही अपनी असफलता का दोष डाल देंगे. ज्यादातर लोगों को पता होता है, की उन्हें क्या करना है, जिससे वो सफल बनेंगे या अमीर बनेंगे. लेकिन जब कुछ करने की बारी आती है, तो वो कोई ना कोई बहाना बनाकर पीछे हट जाते है.

लोग यही सोचते है, की ज्यादा पैसे सिर्फ गलत कामों से ही आता है, या जो अमीर इंसान है, वो कुछ गलत करके ही ज्यादा पैसा कमाते है. तो ऐसा नहीं है, मेरे भाई सफल होने के कायदे कानून सबके लिए एक जैसे है, उसमे कोई अमीर या गरीब नहीं होता है. आज जो लोग अमीर है, उन्होंने अपनी छोटी सोच को छोड़कर मेहनत का रास्ता चुनकर सफलता हासिल की है.

अगर आप भी सफल होना चाहते हो तो आपको दूसरों पर इल्जाम डालना छोड़ना होगा, और आपको अपनी आरामदायक जिन्दगी को छोड़कर मेहनत का रास्ता चुनना होगा.

भेड़ चाल (Mob Mentality)

भारत में ज्यादातर लोग सिर्फ सरकारी नौकरी चाहते है, और इनमे से कुछ लोग ऐसी सोच वाले भी होते है, जो ये सोचते है की मुझे अगर सरकारी नौकरी मिल जाए तो मै अमीर बन जाऊँगा. एक कड़वा सच ये भी है, की सरकारी नौकरी करने वाला इंसान ना तो अमीर बनता है, और ना ही गरीब. अब आप कहंगे की मै ऐसा क्यों बोल रहा हूँ, तो आप मुझे बताइए की आज इस दुनिया में जितने भी अरबपति या खरबपति लोग है, उनमे से कितने लोग ऐसे है, जो सरकारी नौकरी करके अमीर बने है, शायद कोई नहीं.

मेरे कहने का मतलब ये भी नहीं है, की सकारी नौकरी बेकार है, मै तो बस आपको इतना समझाना चाहता हूँ, की आपको दूसरों को देखकर सरकारी नौकरी करना चाहते हो तो ये गलत है. अगर आप ये सोचते हो की सकारी नौकरी करके आप फाइनेंसियली फ्री (Financial Freedome) हो जाओगे तो ऐसा नहीं है. सिर्फ सकारी नौकरी करके सिमित कमाई से इंसान कभी भी अमीर नही बन सकता है.

अगर आपको अमीर बनना है, तो आपको नौकरी करने वाला नहीं बल्कि नौकरी देने वाला बनना होगी, क्योंकि इससे अमीर बनने में आप अकेले मेहनत नहीं करोगे बल्कि लोग आपके लिए काम करेंगे.

अमीर बनने के लिए आपको किसी ऐसे काम को पकड़ना है, जिसमे आपको मजा आये. आपको सिर्फ इस उद्देश्य के साथ किसी काम को नहीं करना ही आपको पैसा कमाना है, आपको आपकी रूचि के हिसाब से अपने काम को चुनना होगा क्योंकि इससे आप उस काम को लम्बे समय तक कर पाएँगे, और आप जल्दी अमीर बन पाएँगे.

जोखिम लेने से डरना (Afraid to take risks)

हम लोग अमीर बनना तो चाहते है, लेकिन जब कुछ करने की बारी आती है, ये कोई रिस्क लेने की बारी आती है, तो हम पीछे हट जाते है. अगर आपके दिमाग में यही सोच घर करके बैठी है, की अगर आपने कोई रिस्क लिया तो आप कंगाल बन जाओगे तो मेरे भाई आप अमीर बनने का सपना छोड़ दीजिये क्योंकि अमीर बनने के लिए आपको रिस्क तो उठाना ही पड़ेगा.

आज अमीरों की सूचि में एलोन मस्क दुनिया के नंबर 1 अमीर इंसान है, लेकिन क्या आप जानते है, उन्होंने ना जाने कितने रिस्क उठाये है, तब जाके आज वो इस मुकाम पर पंहुचे है. एलोन मस्क ने 3 बारी रोकेट लॉन्च करी थी, जो की फ़ैल हो गयी लेकिन उन्होंने एक बार फीर से कोशिस की और चौथी बार ना जाने कितने पैसों का रिस्क लेकर उन्होंने फीर से रोकेट लॉन्च करी तब जाके उन्हें सफलता हाथ लगी.

किसी भी काम में रिस्क लेने से पहले आपको अपनी योजना तैयार करनी है, और आपको खुद पे भरोसा भी होना चाहिये की हा मै इस काम को कर सकता हूँ, तब जाके आपको रिस्क उठाना है. आपको रिस्क तभी लेना है, जब आपको अपनी प्लानिंग पे पूरा भरोसा हो और अगर आप अपनी योजना में सफल ना भी हो तो आप उस नुक्सान को झेल सको. ऐसा नहीं है, की शुरूआत में ही कुछ बड़ा करना है, नही आप छोटे-छोटे स्टेप लेकर भी बहुत कुछ कर सकते है.

पैसों की बचत करना और निवेश से डरना (Saving Money and Afraid of Investing)

ज्यादातर लोग यही सोचते है, की हमें पैसो की बचत करनी है, और इसी कारण से वो अपने पैसों को बचत खातों में जमा करके रखते है, लेकिन पैसे की बचत करने से भी इंसान अमीर नहीं बन सकता क्योंकि जैसे मंहगाई बढती जाएंगी वैसे-वैसे आपके बचत खातों में डाले गए पैसों की कीमत भी कम होती जाएगी. अमीर आदमी कभी भी पैसो को बचा के रखने की सोच नहीं रखता है, वो अपने पैसों को इन्वेस्ट करता है, जिसे उनका पैसा उनके लिए और पैसा बनाता है.

लोगों के मन में यही डर रहता है की पैसो को इन्वेस्ट करना एक रिस्क है, लेकिन ऐसा नही है. इन्वेस्टमेंट करने से आपका पैसा कभी कम नहीं होगा बल्कि बढ़ता ही रहेगा. अमीरों के लिए उनका एक एक पैसा उनके लिए पैसा बनाने का काम करते है, जबकि एक मिडल क्लास इंसान अपने पैसो को बचत खातों में डालकर उनकी कीमत को कम कर देता है.

यह भी पढ़े: अमीर लोग क्या सोचते हैं? अमीर बनने के 17 ऐसे विचार जो आपको सफल बनायेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.